Tuesday, May 22, 2018

Prabhat Comics-440-Joli Joni Aur Cricket Match




Download 10 MB
Download 34 MB
प्रभात कॉमिक्स -४४०-जोली जोनी और क्रिकेट मैच
 इस कॉमिक्स को देखकर डायमंड कॉमिक्स की पिंकी की याद आती है। कहानियाँ भी वैसे ही है चित्रों में भी ये किसी मायने में डायमंड कॉमिक्स से काम नहीं है। कॉमिक्स पढ़ते समय आप यही महसूस करेंगे की आप पिंकी की कॉमिक्स पढ़ रहे है। जैसा की जैसा की हम सभी जानते है की की "प्राण" सर का मुकाबला कोई नहीं कर सकता। इसलिए इस कॉमिक्स का पिंकी की कॉमिक्स के मुकाबला करना भी ठीक नहीं होगा। बस मै इतना कह सकता हूँ कॉमिक्स पढ़ते समय आप का भरपूर मनोरंजन होगा। कई कहानियाँ बहुत लाजबाब है। कुछ तो आप को पेट पकड़कर हसने पर मज़बूर कर सकती है। ये पढ़ने लायक कॉमिक्स।
 आजकल छुट्टिया चल रही है स्कूल का इसलिए जितनी कॉमिक्स संभव होगी अपलोड कर दूंगा। पर अगर आप में से कुछ लोगो का साथ मिल जाता तो काम और ज्यादा हो जाता। कई कॉमिक्स पहले से स्कैन कर रखी है तो और भी स्कैन कर रहा हूँ बस एडिटिंग में कुछ मदद हो जाती तो बेहतर होता। फिर भी जितना सम्भब होगा अपलोड तो कर ही दूंगा।
 एक बात और कहनी थी आप से की ऊपर कुछ कमेंट देख रहा था सोचा तो पहले जबाब दे दूँ फिर जाने दिया। बेकार के बहस में पड़कर समय ही बर्बाद होगा। बस उनके लिए इतना की कह सकता हूँ की आप सिंगापूर से मेरे ब्लॉग पर सिर्फ कमेंट करने को आये नहीं होंगे मतलब कॉमिक्स के मतलब तो आप का भी थी आप का इस ब्लॉग पर विजिट करना ही मेरी सफलता दर्शाता है और उस पर आप अपनी खीज निकाल कर ये साबित कर दिया की मेरा छुट्टियां बर्बाद करना सफल रहा। बाकि ये मेरी छुट्टियां है इसे मै कैसे विताना चाहता हूँ ये तो मेरी मर्ज़ी पर ही होना चाहिए। फिर जल्दी ही मिलते है नयी कॉमिक्स के साथ

Sunday, May 13, 2018

Indrajaal Comics-२१२ -Shahidon Ka Rajmarg

इंद्रजाल कॉमिक्स -२१२ -शहीदों का राजमार्ग
 इंद्रजाल कॉमिक्स के भी कुछ कॉमिक्स भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को ले कर छापी थी उनमे से कुछ कॉमिक्स मैं अपलोड करूँगा। वैसे तो इंद्रजाल कॉमिक्स में ज्यादातर विदेशी सुपर हीरो की कॉमिक्स को हिंदी, इंग्लिश व कुछ और भारतीय भाषा में प्रिंट किया था। ८०% से ज्यादा कॉमिक्स इन्ही सुपर हीरो के है पर कुछ कॉमिक्स उन्होंने महाभारत और रामायण और कुछ कॉमिक्स भारतीय सुपर हीरो को बना कर भी छापा था जैसे बहादुर, अमन का फरिस्ता आदित्य आदि। परन्तु ये सभी कॉमिक्स बहुत कम थी। पर जो भी थी बेहतर थी इनकी प्रिंटिंग और पेपर रेगुलर कॉमिक्स से मुझे तो बेहतर ही लगते थे।
 कहानी कुछ जुनूनी देशभक्तो की है इसलिए आप को कुछ न बताते हुए इस पढ़ने का की अनुरोध करूँगा। आज से हमारी गर्मियों की छुट्टिया शुरू हो गयी है। मतलब कॉमिक्स स्कैन करना फिर तेज हो जायेगा। पर अगर आप में से कुछ की मदद मिल जाये तो इस काम में और तेज़ी आ सकती है। कॉमिक्स के स्कैनिंग से ले कर अपलोड करने तक बहुत कुछ करना पड़ता है और हर काम में टाइम लगता है। अगर आप में से जो भी लोग कॉमिक्स एडिट कर सके मै उन्हें रॉ कॉमिक्स स्कैन कर के दे दूंगा और अगर वो मुझे एडिट करके जल्द वापस कर पाते है तो कॉमिक्स अपलोड में और तेज़ी आ सकती हैं। वैसे अगर मुझे किसी का साथ न भी मिला तब थी मैं कम से कम इन छुट्टियों में १५ कॉमिक्स तो अपलोड करूँगा ही। बाकी आप सब के सहयोग और प्रोत्शाहन पर निर्भर करता है। जल्द ही दूसरी कॉमिक्स के साथ फिर मिलते है। ये कॉमिक्स मेरे मित्र डॉक्टर की है और मुझे वो फिलहाल इसी नाम से याद है उन्होंने मुझे ये कॉमिक्स पढ़ने को दी थी मैंने इन्हे उनकी मर्ज़ी से स्कैन भी कर ली है उनका नाम याद आते है मै दूसरी कॉमिक्स अपलोड में जरूर अवगत करवाऊंगा उनको जरूर धन्यवाद दें।

Sunday, March 4, 2018

Prabhat Comics-191-Raja Rana Aur Bank Dakait

प्रभात कॉमिक्स -१९१ -राजा राणा और बैंक डकैती
 प्रभात कॉमिक्स , नूतन कॉमिक्स , पवन कॉमिक्स आदि उन पब्लिकेशन में से थे जो मनोज कॉमिक्स और डायमंड कॉमिक्स के कारण बहुत सफल नहीं हुए और बाद में राज कॉमिक्स ने तो कुछ जो उम्मीद भी थी उसे भी ख़तम कर दिया। इन पब्लिकेशन की एक बात बहुत अच्छी थी की इनके पास पुस्तकालय योजना थी जिनके कारण बिना प्रचार किये भी इनकी कॉमिक्स इनके मतलब की बिक्री हो जाती थी।
 अब बात इस कॉमिक्स के बारे में बात की जाए तो ये कॉमिक्स भी दो जासूस जोड़ी राजा और राणा की है जो बैंक में पैसा निकालने जाते है और उसी बैंक में डकैती पड़ जाती है। इनके पास डकैती रोकने का मौका नहीं रहता और डकैत पैसे ले जाने में सफल हो जाते है अब ये बात इन दोनों के लिए स्वाभिमान का प्रश्न बन जाता है अब वो कैसे इस केस को सॉल्व करते है इस कहानी का मुख्य आधार है।
आप सब से काफी दिनों बाद मुलाकात हो रही है उसका कारण मेरे कंप्यूटर का ख़राब होना था। कुछ देर चलने के बाद दुबारा रि -स्टार्ट हो जाने से कॉमिक्स अपलोड करना मुश्किल हो जाता था। अब लबटॉप ले लिया है। कंप्यूटर को बाद में बनवाऊंगा।
 एक बात आप सब से जरूर बताना चाहूंगा। कुछ दिन पहले दीपक सिंह जी मेरे घर आये थे उन्होंने मुझे पोटबल स्कैनर गिफ्ट किया है जिससे मेरी अपलोड में कोई रुकावट न हो। उन्हें तहेदिल से धन्यवाद। मई में मनोज कॉमिक्स का अपडेट दुबारा करूँगा आप सब अपनी लिस्ट बना ले जो भी कॉमिक्स अच्छी क्वालिटी में अपलोड नहीं है उन्हें दुबारा स्कैन करूँगा। फिर मिलते है जल्द ही।

Saturday, December 30, 2017

Prabhat Comics-200-Tiger Dushmano Ke Desh Me


Download 10 MB
Download 34 MB
प्रभात चित्रकथा-टाइगर दुश्मनों के देश में
 प्रभात कॉमिक्स / चित्रकथा , नूतन चित्रकथा , गंगा चित्रकथा सब एक ही परिवार की पब्लिकेशन है। फिलहाल नूतन कॉमिक्स के डिजिटल राइट राज कॉमिक्स ने खरीद लिए है तो हमारे पास प्रभात और गंगा चित्रकथा अपलोड करने का काम रह जाता है। जब से मनोज कॉमिक्स पूरी तरह अपलोड की है तब से कॉमिक्स अपलोड में ज्यादा मन नहीं लग रहा है। इस कॉमिक्स को लगभग ३ महीने पहले स्कैन किया था। पर आज अपलोड कर पा रहा हूँ। वैसे तो मेरी पूरी कोशिश होगी कि मै कम से कम दो कॉमिक्स हर महीने अपलोड कर सकूँ।
 कहानी के लिहाज़ से मुझे ये कॉमिक्स काफ़ी पसंद आयी। टाइगर को धोखे से बिहोश करके चीन भेज दिया जाता है जिससे उसका दुश्मन उससे बदला ले सके। पर जैसा की आप जानते ही है की होश में आने के बाद वो चीन में क्या तबाही मचाता है और अपने दुश्मन को किस तरह तबाह करता है, ये सब ही इस कॉमिक्स का मुख्य आधार है।
 कॉमिक्स पढ़ कर देखे उम्मीद है आप को जरूर पसंद आएगा।

Sunday, October 8, 2017

Anand Chitrakatha-65-Dulhe Raja Chale Sasuraal


Download 10 MB
Download 34 MB
आनंद चित्रकथा-६५-दूल्हे राजा चले ससुराल
मनोज कॉमिक्स पूरी तरह से अपलोड करने के बाद अभी मै दिशाहीन हूँ। राज कॉमिक्स के कारण अब तुलसी कॉमिक्स पर काम संभव नहीं है। मनोज कॉमिक्स की सार्वजानिक शेयरिंग सम्भव नहीं है। पर इस बात का संतोष है की कॉमिक्स कॉमिक्स डिजिटल रूप में मेरे पास उपलभ्ध है। मनोज कॉमिक्स की कुल १२०७ कॉमिक्स को अपलोड करने में बहुतों का योगदान रहा। जिसने एक बार भी अपलोड करने की सोची होगी उसने मनोज कॉमिक्स ही अपलोड करना चाहा होगा। फिलहाल ये काम तो पूरा हो चुका है।
 आज फिर आनंद कॉमिक्स अपलोड कर रहा हूँ इसे स्कैन तो मैंने एक हफ्ते पहले कर लिया था पर अपलोड करने का समय अब मिला है। कहानी के लिहाज़ से पढ़ने लायक। एक मुर्ख का अपनी होने वाली ससुराल जाना और अपने को समझदार दिखाने का प्रयास करना उस प्रयास में होने वाली गलतियां जो हास्य पैदा करती है उसका मज़ा कुछ और ही है।
 पढ़े और इस कहानी का भरपूर आनंद लें। फिर मिलते है।

Sunday, August 27, 2017

Prabhat Chitrakatha-Patharon Ki Nagri


Download 10 MB
Download 34 MB
प्रभात कॉमिक्स - पत्थरों की नगरी
 प्रभात कॉमिक्स की एक और शानदार कॉमिक्स। प्रभात कॉमिक्स, नीलम कॉमिक्स , नूतन कॉमिक्स,गोयल कॉमिक्स और पवन कॉमिक्स इन सभी में अगर कुछ कमी थी तो वो सिर्फ ये थी की ये अपनी कॉमिक्स का ठीक से प्रचार नहीं करते थे। वरना इनके चित्र और कहानी किसी भी पब्लिकेशन से ख़राब नहीं थी। बस इन्होने अपनी कहानियों का ठीक से प्रचार नहीं किया। पर ऐसा भी नहीं है की इन्होने बेचने पर ध्यान नहीं दिया था। इनका तरीका सीधा ग्राहक तक पहुंचने का था। इनकी लाइब्रेरी योजना मनोज कॉमिक्स , तुलसी कॉमिक्स और राज कॉमिक्स से कही बेहतर थी पर कम प्रचार होने के करण नए ग्राहक इन्हे कम मिलते थे। कहानी के लिहाज़ से कॉमिक्स अच्छी है। कहानी का कई हिस्सा मनोज कॉमिक्स की कुछ कहानियों से मिलता है अब ये कहना मुश्किल है की इस कॉमिक्स को कॉपी किया गया था या ये कॉमिक्स उन कॉमिक्स से प्रभावित है।
 कहानी शुरू होती है रानी द्वारा दो पुत्रों को जन्म देकर मरने से। राजा अपने बच्चों के लिए दूसरा विवाह न करने का निश्चय लेता है। परन्तु वो एक नीच कुल के स्त्री पर मोहित होकर विवाह कर लेता है। इसके बाद दोनों राज कुमारों को मरवाने के लिए नयी रानी जाल बुनती है और सफल रहती है राजा दोनों राज कुमारों को मौत की सजा सुनाता है। इसके बाद है वो तो आप को कहानी पढ़ कर ही पता लग पायेगा।
पिछले कुछ दिनों से जो घटनाक्रम कॉमिक्स ब्लॉग को लेकर चल रहा है वो चिंताजनक है। जिन लोगो ने पुरानी कॉमिक्स बचाने के लिए रात-दिन एक कर दिया था वो ही सबसे बड़े खलनायक साबित कर दिए गए। जिनमे से एक मै भी हूँ। फिलहाल कुछ बाते साफ़ है की ब्लॉग पर कॉमिक्स अपलोड चलता रहेगा। जिन कॉमिक्स के लिंक डिलीट हो गए थे लगभग वो सभी कॉमिक्स दुबारा से अपलोड कर दी गयी है परन्तु अभी उन्हें ब्लॉग पर अपडेट नहीं कर पाया हूँ वो भी जल्द ही कर दूंगा। मनोज कॉमिक्स के सीरियल नंबर १ से ११०० तक सभी कॉमिक्स अपलोड हो गए है अगले महीने तक अगर संभव हुवा तो पूरी मनोज कॉमिक्स नेट पर अपलोड हो जाएगी। मै अभी दूसरा ब्लॉग अपडेट नहीं कर रहा हूँ परन्तु जल्द ही उससे प्राइवेट करके फिर से सारे लिंक अपडेट कर दूंगा। आप सभी से अनुरोध करूँगा की मै इस ब्लॉग पर एक पेज बना रहा हूँ उस पेज पर कमेंट बॉक्स में जा कर अपना नाम और मेल आई डी लिख दें जिससे जब मै ब्लॉग को प्राइवेट करूँ तो उन्हें रिक्वेस्ट भेज सकू। संभव है की मै उस ब्लॉग के मेंबर सिप के लिए कुछ चार्ज करूँ। जिससे ब्लॉग को नुकशान पहुंचाने वाले लोगो से ब्लॉग को बचाया जा सके।
 जिनको मनोज कॉमिक्स जल्दी से चाहिए वो मुझे एक पेन ड्राइव +१०० पोस्टल भेज कर सभी कॉमिक्स मंगवा सकते है या भी आप मेरे ब्लॉग के अपडेट होने तक इंतज़ार कर सकते है। आप मेरे घर आकर भी इन सभी कॉमिक्स की सॉफ्ट कॉपी प्राप्त कर सकते है।
बस आप सब से एक ही अनुरोध है की जो मिसिंग कॉमिक्स अपलोड कर रहा हूँ उनके लिंक फ्री में न मांगे क्योंकि वो सभी कॉमिक्स मै खुद पैसे दे कर स्कैन करवा रहा हूँ।
आज के लिए इतना ही फिर जल्द ही नहीं कॉमिक्स के साथ दुबारा मिलते है।

Sunday, July 30, 2017

Indrajaal Comics-107-Hatyara Banmanush


Download 10 MB
Download 34 MB
इंद्रजाल कॉमिक्स-१०२-हत्यारा बनमानुष
 कॉमिक्स के बारे में ज्यादा बात तो नहीं कर पाउँगा पर और बातें जो मुझे लगता है जरुरी है उन बातों को मैं यहाँ जरूर रखूँगा।
 १- मै कॉमिक्स अपलोडिंग नहीं बंद करूँगा।
 २. मनोज कॉमिक्स सेट - वाइज अपलोड भी पूरा होगा।
 ३. मनोज कॉमिक्स जितनी भी अपलोडेड है वो सभी मेरे पास हार्ड-कॉपी में है। यदि आप सब मेरी मदद करते है तो मुझे स्कैन की हुयी कॉमिक्स दुबारा स्कैन नहीं करनी पड़ेगी।
 ४. आप सभी अपनी सुविधा अनुसार सारी मनोज कॉमिक्स और दूसरी कॉमिक्स जो आप ने मेरे ब्लॉग से डाउनलोड की है उसे किसी फ्री फाइल होस्टिंग साइट पर अपलोड करें और उनके फ्लोडर लिंक मुझसे मेल पर शेयर करें इससे मेरे पास एक ही कॉमिक्स के कई लिंक हो जायेंगे।
 ५. मनोज कॉमिक्स पर आधारित ब्लॉग अभी फिलहाल प्राइवेट रहेगा। पुराने लिंक तो लगभग सारे ख़राब हो चुके है पर उनके नए लिंक जल्द ही अपडेट कर दिए जायेंगे और जो मनोज की मिसिंग कॉमिक्स है उन्हें जल्द ही अपलोड कर दिया जायेगा।
 ६. उस ब्लॉग पर आप सभी आमंत्रित है बस एक शर्त के साथ आप मनोज कॉमिक्स के कोई भी बीस कॉमिक्स अपलोड करें और उसका लिंक मुझे भेज दें तो मै आप को उस ब्लॉग पर आमंत्रित कर लूंगा
 ७-कुछ मित्रों ने इस कठिन समय में मेरी बहुत मदद की है मेरे लिए कई कॉमिक्स अपलोड की है और आगे भी कर रहे है। उनका दिल से धन्यवाद। कुछ मित्र मुझे डीवीडी में राइट करके भेज रहे है उन्हें भी धन्यवाद। आप भी चाहे तो कुछ इसी तरह से मेरी मदद कर सकते है। जिससे मेरे पास इन डिजिटल कॉमिक्स का खजाना कई रूप में हो जायेगा।
 ८.मेरी कंप्यूटर की हार्ड डिस्क क्रैश हो गयी थी। वरना शायद मुझे आप सब के मदद की जरुरत न होती। आप सब का तहे दिल से धन्यवाद।
 ९.राज कॉमिक्स जो भी कर रहा है वो उनकी सोच है। बस मै इतना ही कहुँगा आप जहाँ तक संभव हो कॉमिक्स खरीद कर उनकी मदद करें। वो हिंदी कॉमिक्स की आखरी उम्मीद है।
१०.आप सब की मदद से ही ये कार्य शुरू किया था और जब तक आप का शहयोग होगा मै ये कार्य करता रहूँगा।